बालो का असमय सफेद होना आयुर्वेदिक आॉइल से इलाज, Premature hair grain treatment in Ayurveda

1
965

आज एक बहुत ही कॉमन प्रॉब्लम के बारे मैं आज की इस पोस्ट में आपको जानकारी मिलेगी जिससे हम में से बहुत सारे लोग परेशान हैं। बालों का वक्त से पहले सफेद हो जाना। इस पोस्ट में एक ऐसा आयुर्वेदिक इलाज शेयर किया है जो कि ना सिर्फ आपके बालों को सफेद होने से रोकेगा बल्कि जो पहले से आपके बाल सफेद हो चूके हैं उनको भी किसी हद तक वापस काला करने में आपकी मदद करेगा। आप जानेगे एक ऐसे आयुर्वेदिक तेल के बारे में जो की सभी लोगों के लिए सूटेबल है और बिना किसी नुकसान के यह आपके बालों को काला करता है, उन्हें गिरने से बचाता है, बालों की डेन्सिटी को बढ़ाता है और उन्हें सॉफ्ट, लंबा और खूबसूरत बनाता है,

बालों के सफेद होने का कारण

सबसे पहले जानते हैं कि आखिर हमारे बाल सफेद क्यों होने लगते हैं? देखिये हमारी स्किन में कुछ सेल्स होती हैं जिनको मेलानोसाइट्स कहते हैं। ये सेल्स एक पिगमेंट बनाती है जिसका नाम होता है मिलानिन और ये पिगमेंट ही असल में हमारे बालों को काला बनाए रखता है। उम्र बढ़ने के साथ साथ ये सेल्स या तो कम होने लगती है, हमारे अंदर या फिर ये काम करना बंद कर देती है और इसी वजह से हमारे बाल सफेद होने लगते हैं। यह एक नेचुरल फिनॉमिना है।दोस्तों। लेकिन बहुत से लोगों में यह वक्त से बहुत पहले शुरू हो जाता है। जिसको हम लोग बालों का असमय सफेद होना कहते हैं। बालों के सफेद होने के लिए बहुत सारे फैक्टर्स रिस्पॉन्सिबल हो सकते हैं। फॉर एग्जाम्पल कई बार जेनेटिक कारणों की वजह से कई बार स्ट्रेस की वजह से कई बार खराब न्यूट्रिशन की वजह से कई बार हॉर्मोनल इम्बैलेंस की वजह से कई बार स्मोकिंग की वजह से और कई बार एलोपैथिक दवाइयां ज्यादा लेने की वजह से आपके बाल सफेद होने शुरू हो सकते हैं, पर चाहे कारण कोई भी हो क्योंकि आयुर्वेद की मदद से आप प्री मैच्योर हेअर ग्रेन की प्रॉब्लम को बहुत ही इफेक्टिव तरीके से ठीक कर सकते हैं,

सफेद बालों के लिए आयुर्वेदिक आॉइल

तो चलिए अब जानते हैं कि इस आयुर्वेदिक ऑइल को बनाने के लिए आपको कौन कौन से इन्ग्रीडिएंट्स की जरूरत पड़ेगी और कैसे इसको आप को तैयार करना है। पहली चीज़ है आंवला दूसरी चीज़ है करी पत्ता। तीसरी चीज़ है भ्रंगराज और चौथी चीज़ जो आपको चाहिए वो है नारियल का तेल।

1. आमला बालों के लिए एक बहुत ही बढ़िया आयुर्वेदिक रेमेडी है। इसमें विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है और एंटी ऑक्सीडेंट्स भी होते हैं जो कि बालों को ऑक्सिडेटिव डैमेज से बचाते हैं। आमला बालों को काला और घना भी बनाता है और वक्त से पहले सफेद होने से भी बचाता है

2. करी पत्ता की बात की जाए तो यह भी ऐन्टी ऑक्सीडेंट से भरपूर होता है और हेयर फॉलिकल्स में मेलानिन के प्रोडक्शन को रिस्टोर करता है जिससे बाल काले होने लगते हैं।

3. भृंगराज आज भी बालों के लिए एक बहुत ही इफेक्टिव आयुर्वेदिक रेमेडी है जो कि बालों से रिलेटेड करीब करीब हर एक प्रॉब्लम को सॉल्व करता है। भ्रंगराज बालों में नैचुरल कलर को प्रिजर्व करता है और बालों मैं ज्यादा मेलानिन पिगमेंट प्रोड्यूस कराता है जिससे कि आपके बाल काले होने शुरू हो जाते हैं।

4. चौथी चीज़ जो इस नुस्खे को बनाने के लिए हम यूज़ कर रहे हैं वो है कोकोनट ऑइल। कोकोनट ऑइल यानि नारियल का तेल, इसमें लोरिक एसिड, मीडियम चेन फैटी ऐसिड्स होते हैं, जो की हमारे बालों के लिए बहुत जरूरी होता है, कोकोनट ऑइल बालों को झड़ने से और टूटने से भी बचाता है और खुश्की को भी दूर करता है। ये है वो चारो चीजें जो की आपको इस होम रेमेडी को बनाने के लिए चाहिए

सफेद बालों के लिए आयुर्वेदिक आॉइल बनाएं

कैसे अब आइए जानते हैं कि इस आयुर्वेदिक होम रेमेडी को बनाने का तरीका क्या है। इसको बनाने के लिए आपको सबसे पहले 100 एमएल कोकोनेट ऑइल लेना है। दोस्तों आप जानते हैं कि सर्दी के मौसम में कोकनट आइल जम जाता है तो अगर आप सर्दी में इसे बना रहे हैं तो सबसे पहले तो आप इस ऑइल को पिघला लीजिये। अगर गर्मी है तो ये पिघला होगा। इस ऑइल को आपको लेना है और एक कांच के बड़े मुह वाले जार में आपको इसको भर के रख लेना है। इसके बाद आपको करीब 7 सूखे हुए आमले चाहिए और इन आमलो को आप हल्का हल्का कूट लें। याद रखें कि आपको बहुत बारीक इनको नहीं पीसना है।कूटने के बाद ही आमला आप ले के इस नारियल के तेल में डाल दीजिए। इसके बाद आप लीजिये कड़ी पत्ता करीब 20 से 25 आपको कड़ी पत्ते लेने है इन को हाथ से थोड़ा सा कुचल के इसको भी आपको तेल में डाल देना है। इसके बाद आपको लेना है सूखा हुआ भ्रंगराज किसी भी आयुर्वेदिक शॉप पर यह आपको मिल जायेगा तो दो टेबलस्पून के बराबर लेना है और इसको भी आपको अच्छी तरीके से हाथ से बारीक बारीक तोड़ देना है और इस तेल के अंदर आपको मिला देना है। इसके बाद इन सभी चीजों को आप अच्छी तरीके से कोकोनेट ऑइल के अंदर मिलाइये और जो ऑइल का लेवल है वो इन तीनों चीजों के ऊपर रहना चाहिए। यानी ये तीनों चीजें आपने इसमें डाली है। ये तेल के अंदर पूरी तरीके से डूबी हुई होनी चाहिए। अब इस जार का ढक्कन आप अच्छे तरीके से बंद करके इसको धूप में करीब तीन हफ्ते के लिए रख दीजिए।

धूप में रखने से इन जड़ी बूटियों के अंदर मौजूद जो तत्व होते हैं वो इस कोकोनट ऑयल में अच्छे तरीके से समा जाएंगे और सनलाइट की जो एनर्जी होती है वो भी इसके अंदर आ जाएगी या फिर अगर आप इतना वेट नहीं कर सकते हैं तो ऐसे केस में आप तेल को बजाएं धूप में रखने के इसको एक छोटी सी कढ़ाई में डालकर हल्की आंच पे इसको थोड़ी देर पका भी सकते हैं। अगर आप इसको तेल में पकाते है तो इसको इतनी देर तक आपको पकाना है जब तक ये तीनों चीजें यानी आंवला, कड़ी पत्ता और भृंगराज जो है ये जलकर काले ना हो जाए और उसके बाद इसको आप ठंडा करके छान के बोतल में भर के रख लीजिये। अगर आपने तेल को पकाया नहीं है बल्कि धूप में रखा है। इस तेल को आप हर एक 1 दिन छोड़कर रात को सोते समय बालों की जड़ों में हल्का गुनगुना करके लगाएं,

पहली बात तो यह है कि अगर उम्र बढ़ने की वजह से आपके बाल सफेद हो रहे हैं। आमतौर पर 40, 45 साल की उम्र के बाद बाल सफेद होने लगते हैं तो यह एक नॉर्मल प्रोसेस है, और उम्र बढ़ने की वजह से जो आपके बाल सफेद होते हैं वो वापस से काले नहीं हो सकते हैं। लेकिन हाँ, ये आयुर्वेदिक होम रेमिडी जो आज मैंने आपको बताई है, इसकी मदद से अच्छे खाने पीने की मदद से और स्ट्रेस फ्री रहकर आप इस जल्दी बाल सफेद होने के प्रोसेस को धीमा जरूर कर सकते हैंदूसरी बात जो आपको समझना जरूरी है वो ये है की अगर आपको कम उम्र में ही बाल सफेद होने लगे हैं या किसी बिमारी की वजह से आपके बाल सफेद हो गए हैं या फिर कोई दवाई खाने की वजह से आपके बाल सफेद हो रहे हैं या स्ट्रेस की वजह से आपको बालों में सफेदी आने लगी है।तो इस कंडीशन में आप अपने बालों को वापस से काला कर सकते हैं, उनके अंदर पिगमेंट आ सकता है, और इसके लिए आपको बहुत जरूरी है कि आप रेगुलरली इस आयुर्वेदिक तेल का जरूर यूज़ करते रहे।

कुछ जरूरी बातें सबसे पहली बात तो आप अपने बालों को ज्यादा शैंपू से न धोएंइसके अलावा स्ट्रेस को अपनी लाइफ में कम करें क्योंकि स्ट्रेस भी एक बड़ा कारण है बालों का असमय सफेद होने का और बालों के झड़ने का बालों में लगाने के लिए जिस तेल का आप इस्तेमाल कर रहे हैं उस तेल को ही लगातार इस्तेमाल में लेते रहे क्योंकि बार-बार तेल बदलने से भी आपके बाल सफेद हो सकते हैं

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here