मन्मथ रस के फायदे, Manmath Ras Benefits in Hindi, Manmath Ras Tablet uses in Hindi,

0
687

मन्मथ रस टैबलेट का परिचय

मन्मथ रस टैबलेट शारीरिक कमजोरी, थकावट, शीघ्रपतन, नपुंसकता जैसी परेशानी के लिए हर्बल जड़ी बूटियां से बनाई गई आयुर्वेद की एक रस रसायन औषधि है, आजकल की भाग दौड़ भरी जिंदगी में साथ ही साथ समय पर भोजन न करने के कारण और गलत यानी खराब खान-पान और डिजिटल सुविधाओं के कारण शीघ्रपतन और नपुंसकता स्वप्नदोष जैसे यौन विकार बहुत ज्यादा देखने को मिलते हैं

मन्मथ रस टैबलेट इस प्रकार की सभी परेशानियों में पुरुषों के लिए बेहद ही कारगर साबित होती है

मन्मथ रस टैबलेट आयुर्वेद की एक क्लासिकल दवाई है जिसे आयुर्वेद की ज्यादातर कंपनियां बनाती हैं

यह आपको बैद्यनाथ, व्यास, बेसिक आयुर्वेदा, शर्मायू, उंझा, धूतपापेश्वर जैसी सभी कंपनियों का मिल जाता है

मन्मथ रस टैबलेट चरम सुख का आनंद देता है पुरुषों में यौन शक्ति को बढ़ाती है पुरुषों यौन संबंध बेहतर बनाती है

मन्मथ रस का उपयोग

🔹शुक्र नसों की कमजोरी

🔹 मेल हार्मोन टेस्टोस्टेरोन की कमी

🔹स्तंभन दोष

🔹तनाव की कमी

🔹मानसिक थकावट

🔹वीर्य विकार

🔹स्वप्नदोष

🔹 महिलाओं में लिकोरिया

जैसे सभी लक्षणों में उपचार के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है

मन्मथ रस टैबलेट प्राकृतिक जड़ी बूटियां से बनी एक यौन इच्छा को जगाने वाली साथ ही शुक्राणुओं की संख्या और उनकी गुणवत्ता को बढ़ाने वाली आयुर्वेदिक दवाई है

मन्मथ रस टैबलेट संभोग के बाद आने वाली थकान व कमजोरी को दूर करने में भी सहायक होती है

मन्मथ रस टैबलेट मैं इस्तेमाल होने वाली जड़ी बूटियां व भस्म

🔹अभ्रक भस्म 🔹शुद्ध कपूर 🔹वंग भस्म

🔹लौह भस्म 🔹जायफल 🔹शतावरी

🔹लवंग 🔹कोच बीज

मन्मथ रस टैबलेट में इस्तेमाल होने वाली भस्म जड़ी बूटियां कैसे काम करती हैं

🔹कौंच बीज यह मानसिक तनाव को दूर करता है मानसिक तनाव के कारण होने वाली यौन इच्छा की कमी को दूर करता है साथ ही यह स्पर्म काउंट को भी बढ़ाने में सहायक होता है

🔹लवंग यह ढीलेपन को दूर करता है साथ ही स्तंभन शक्ति को बढ़ाता है पुरुषों में होने वाली आम समस्या शीघ्रपतन को दूर करने में सहायक है

🔹शतावरी यह काम इच्छा को बढ़ाती है पुरुषों में जोश पावर स्टैमिना को बढ़ाने का काम करती है शारीरिक कमजोरी को भी दूर करती है

🔹जायफल यह मेल हार्मोन टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बरकरार रखने में बेहद कारगर साबित होती है शुक्राणुओं की गुणवत्ता को बढ़ाती है और उसके उत्पादन में सुधार करने का काम करती है

🔹 लौह भस्म यह भस्म एनीमिया यानी खून की कमी को पूरा करती है रक्त के प्रवाह को बढ़ाकर उत्तेजना को बरकरार रखती है शरीर को बलशाली बनाती हैं

🔹वंग भस्म यह धातु की कमजोरी को दूर करती है धातु को पुष्ट करती है शीघ्रपतन स्वप्नदोष शारीरिक संबंधों में होने वाली कमजोरी को ठीक करने का कार्य करती है

🔹शुद्ध कपूर यह वीर्य की गुणवत्ता को बढ़ाता है नया वीर्य पैदा करता है

🔹अभ्रक भस्म यह भस्म शारीरिक कमजोरी को दूर करती है, काम इच्छा की कमी को दूर करने का कार्य करती है, दिमाग की उत्तेजित नसों को शांत कर शीघ्रपतन जैसी समस्या में फायदा पहुंचाती है

मन्मथ रस के फायदे

🔹काम इच्छा की कमी 🔹स्वप्नदोष 🔹वीर्य का पतलापन 🔹शीघ्रपतन 🔹नसों की कमजोरी 🔹नपुंसकता 🔹वीर्य की कमी 🔹मानसिक तनाव 🔹शारीरिक कमजोरी 🔹पुरुषों में पावर स्टैमिना की कमी🔹स्तंभन दोष 🔹संभोग के समय असंतुष्टि 🔹आत्मविश्वास कमी 🔹पुरुष बांझपन

इसके अलावा यह महिलाओं में लिकोरिया मैं भी फायदा कर सकती है

और गर्भाशय की समस्याओं के इलाज में भी काफी फायदेमंद साबित होती है

मन्मथ रस का तरीका इस्तेमाल

मन्मथ रस की खुराक रोगी की अवस्था के अनुसार अलग-अलग हो सकती है, आमतौर पर मन्मथ रस की ज्यादातर मामलों में दी जाने वाली खुराक एक टैबलेट सुबह एक टैबलेट शाम हो सकती है

खाना खाने के बाद दूध या पानी से लेना चाहिए या अपने डॉक्टर या किसी वेद हकीम की सलाह से लेना चाहिए,

मन्मथ रस टैबलेट को खाली पेट बिल्कुल नहीं लेना चाहिए इसे खाना खाने के बाद ही लेना चाहिए

मन्मथ रस के दुष्प्रभाव

मन्मथ रस, एक रस रसायन औषधि है जिसे सही डोज में लेने पर कोई नुकसान या साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिलता है लेकिन इसके ओवरडोज होने के कारण आपको

🔹सिर का भारीपन होना 🔹चक्कर आना 🔹उल्टी होना 🔹हृदय की धड़कन तेज होना

जैसे कुछ साइड इफेक्ट देखने को मिल सकते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here